Basic of the Communication and Direction of the Data Flow

0
43

Basic of the Communication and Direction of the Data Flow

Communication का अर्थ है Information को एक स्थान से दूसरे स्थान तक Provide करने से है लेकिन ये Information तब तक uses नहीं हो सकती है जब तक कि इन Information का Exchange न हो पहले Information या Message को एक स्थान से दूसरे स्थान पर Transfer करने के काफी Time लगता था लेकिन Present में Message का Transfer बहुत ही Easy से हो जाता है और Time भी कम लगता है Satellite व Television ने तो World को एक City में Change कर दिया है |

जब दो या दो से अधिक Human आपस में कुछ Meaningful sign, Symbol के Medium से Idea या Feeling का Exchange करते है तो उसे Communication कहते है|

Types Of Communication 

1. Intrapersonal Communication

इसमें Human Self से Communication करता है तथा इसमें Human Alone होता है। इसका मतलब यह होता है की Human अपने Mind में सोच-विचार करता है, Planning बनाता है यदि कोई Human Dream देखता है या कुछ सोचता है तो वह Intrapersonal Communication के अंतर्गत आता है।

2. Interpersonal Communication

Communication के इस प्रकार में 2 लोग Include होते है। जब 2 Human आपस में एक-दूसरे से बात करते है तो इसे Interpersonal Communication कहा जाता है। यह Communication आमने-सामने होता है। यह कहीं पर भी Word, Image, Symbol के रूप में हो सकता है। इसमें दो लोगों के मध्य सीधा Contact होता है।

3. Group Communication

इस प्रकार के Communication के नाम से पता चलता है इस प्रकार की Communication एक Group में ही किया जाता है। एक Group में किए जाने वाले Communication को ही Group Communication (समूह संचार) कहते हैं। प्रत्येक Human किसी ना किसी Group अर्थात समूह के Member होते हैं| इस प्रकार के किसी भी Group में कुछ Human अगर किसी एक Subject को लेकर Communication करते हैं तो, उसे Group Communication कहा जाता है।

4. Mass Communication

इस Communication का Simple अर्थ  Group communication होता है या Group Communication का बड़ा रूप है। इस प्रकार के Communication में Public को किसी चीज की Information दी जाती है अर्थात Public को किसी Communication medium की help से किसी Subject पर Information दी जाती है इसे ही “Mass Communication” या “जनसंचार”  कहा जाता है।

Love Babbar SDE Sheet Problems – Video Solutions in hindi

Communication Process

Sender

किसी Information को दूसरों तक Transfer करने वाला Sender कहलाता है। Communication करते Time Human अपने Idea का Give and Take करता है। तथा जिसके द्वारा कुछ बोला जाता है या Information को Send किया जाता है उसे Sender कहा जाता है।

Message

Sender किसी Human को Message send करता है। इसमें वह अपने मन में आये हुए Idea को Send करता है। यह किसी Image या Symbol के रूप में हो सकते है।

Encoding

हम Information को समझने के लिए Symbol का use करते हैं और उस Process को हम Encoding कहते हैं|

Receiver

जो Human Message को Receive करता है उसे हम Receiver कहते हैं| Simple word में कहा जाए तो Sender जिस Human के लिए Information send करता है उसे Receiver कहा जाता है|

Decoding

जब Receiver मिले हुए Message को समझने का Effort करता है उसे Decoding कहा जाता है|

Feedback

यह एक प्रकार की Information होती है। जो Receiver के द्वारा Sender को Send की जाती है। इसके आधार पर ही Sender यह समझ पाता है की उसके द्वारा दी गई Information में कोई Changing की जरूरत है या नहीं।

Direction of Data Flow

Data flow को Direction के base पर दो devices के मध्य Data communication में Simplex अथवा Half duplex अथवा Full-duplex हो सकता है किसी Communication Network पर Data को Transfer करने को Data Transmission कहा जाता है एक अन्य Definition के अनुसार किसी एक Sender से किसी एक अथवा अधिक Receivers को Data send करने को Data transmission कहा जाता है

जैसे जैसे किसी Network का Size बढ़ता है और उसका Traffic load बढ़ता है तो Network की Data transmission के speed को बढाना आवश्यक होता है Data channel का अधिकतम use कर अधिक से अधिक Data को कम से कम Time में ही Exchange किया जा सकता है|

Type of Transmission Mode

1. Simplex Mode

Simplex Transmission Mode वो Communication का Medium होता है जिसमे Sender और Receiver के बीच One direction communication होता है अर्थात इसमें केवल Sender data send कर सकता है और Receiver उस Data को Receive कर सकता है| इसमें Receive, Sender को Reply नहीं कर सकता है|

Example Computer से Connected keyboard के द्वारा Data केवल Keyboard से Computer में Enter कर सकते है | इसी तरह Printer, Scanner इत्यादि Device में Data केवल Computer से Printer की ओर send कर सकते है |अन्य Example Radio, Television में भी Data एक ही Direction में Transfer कर सकते है

Advantage of Simplex Mode
  • यह बहुत ही सस्ती Communication line होती है |
  • यह Fast Speed से Work करती है |

difference between HTTP and HTTPS in hindi

Disadvantage of Simplex Mode
  • इसमें communication केवल एक ही Direction में होती है |Communication में Feedback नहीं दिया जा सकता है |

2. Half Duplex Transmission Mode

Half-Duplex Transmission Mode में Sender और Receiver के बीच का Communication two directional होता है, लेकिन इसमें एक समय में एक ही व्यक्ति Information send कर सकता है अर्थात जब Sender से Signal आएंगे तो Receiver उन्हें केवल Receive कर सकता है लेकिन उस समय खुद Signal नहीं send कर सकता और जब Receiver उसका Reply करेगा तो Sender केवल Signal Receive कर सकता है उसका Reply नहीं कर सकता है|

Example Walkie-Talkie एक ऐसा Device है जिसके Medium से एक time में केवल एक ही Direction में Communication होता है |और दुसरे time में दूसरी Direction से Transmission Possible होता है |आपने Railway और Police Employee को इसमें बात करते देखे होगे|

3. Full Duplex Transmission Mode

Full Duplex Transmission Mode में Sender और Receiver दोनों के बीच एक साथ Communication किया जाना possible है| इसमें Sender और Receiver दोनों एक साथ एक ही समय पर एक ही Chanel पर Signal Send करते हैं| Full duplex transmission mode एक two way road की तरह होती है जिसमें Traffic एक ही समय में दोनों Direction में Flow हो सकता है। Chanel की Capacity के अनुसार Opposite direction में Travel कर रहे Communication संकेत दोनों द्वारा Share किये जा सकते है।

Example Telephone, Mobile एक ऐसा device है जिसके medium से एक साथ एक ही time में दोनों Direction में Communication होता है | Sender और Receiver एकल साथ एक ही time में बात कर सकते है | Sender की बातो का Reply या Feedback Receiver दे सकता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here