Definition of Animation & History of Animation and its types

0
76

Definition of Animation

Animation एक प्रकार का process है जिसमें Designing, Drawing, Layouts बनाना और Photographic sequences की preparation करना है| जिसे बाद में Multimedia या किसी Gaming products में integrate किया जाता है| इसके Principle की बात करें तब इसमें Still images को कुछ इस प्रकार से exploit और manage किया जाता है जिससे इसके Movement होने का illusion पैदा हो| इसमें Motion का illusion पैदा करने के लिए उन images को जल्दी जल्दी display किया जाता है| जब continuously हम इन स्थिर images को एक sequence में देखते है | तब हमें एक Video animation के तरह लगता है जिसमें characters या objects movement कर रहे होते है |

Modern entertainment industry जैसे की Film और Television ने बहुत ही उंचाइयाँ प्राप्त करी हैं क्यूंकि ये तीनों Fields : Animation, Graphics और Multimedia ने अपने Fields में काफी Advancement कर लिया हैं| Example के लिए Television advertisements, cartoons serials, presentation और model designs – ये सभी चीज़ों में Animation और Multimedia techniques का use किया गया है|

History of Animation

3D animation ने Fixed रूप से Revolution ला दी है कि आज का Animation Industry कैसा दिखता है और यह सब 1995 में John Lassetter द्वारा directed toy story के साथ शुरू हुआ।

Computer generated animation उस समय पूरी तरह से नया नहीं था, क्योंकि यह पहले से ही TV commercials, Film और Computer game में use किया जा चुका था, लेकिन Toy story ने Animation industry की फिर से कल्पना करते हुए first feature-length computer animated film बनकर Bar set  किया। 3D animation high-level computer processing को advance motion-capture के साथ जोड़कर photo-realistic animation हासिल करने की Try कर रहे studio की ओर भी ले जाता है। इसने The Lord of the Rings trilogy, Avatar और Planet of the Apes जैसी Film को जन्म दिया है।

Type of Animation – 2D and 3D

2D

2D animation traditional animation के अंतर्गत आ सकता है जैसे Disney movies — Pinocchio, Beauty and the Beast आदि। लेकिन Vector-based animation नामक कुछ है जो Traditional होने के बिना 2D हो सकता है। Vector-based के साथ, यहां motion को Pixel के बजाय Vector द्वारा Control किया जा सकता है।

JPG, GIF, BMP जैसे familiar format वाली Image pixel image हैं। quality को effect किए बिना इन image को बड़ा या छोटा नहीं किया जा सकता है। Vector graphic को worry के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। Vector को विभिन्न Start और End points के साथ lines की विशेषता होती है, graphic बनाने के लिए इन point को जोड़ने वाली line एक Character या अन्य image बनाने के लिए shapes बनाई जा सकती हैं। Example Vector-based animation image का size बदलने के लिए mathematical values का use करता है, इसलिए motion smooth है। वे इन कृतियों का पुन: use कर सकते हैं ताकि Animator को एक ही characters को बार-बार draw करने की आवश्यकता न पड़े।

3D

इसका use film making में होता है जहाँ की हमें unusual objects या characters की जरुरत होती हैं जिन्हें की आसानी से display नहीं किया जा सकता है | Example के लिए 3D animation के use से हम बहुत लोगों को एक जगह में खड़े कर सकते हैं, पर्वत को किसी Table के ऊपर establish कर सकते हैं| इसमें बहुत से different shapes, mathematical codes का use, actions और colors का display किया जाता है जो की mind-blowing होता है और ऐसा प्रतीत होता है की ये किसी actual picture से copy किया गया हो| Best 3D Animation Software की बात करूँ तब Maya, 3D Max और Blender मुख्य हैं|

Basic Principles of Animation

  •  Squash And Stretch

इसका Work Rubber के किसी Object या Rubber Boll को जब हम Top से Bottom की तरफ को Throws करते है  तो Boll में थोड़ी Stretch होती है l और कोई Object Bottom से से Top की तरफ जाती है l तो वो Boll Squash होती है l

  • Anticipation

हमारा object या हमारा Character अपने आप को पहेले से तैयार कर रहा है l Example– हमारा कोई Cartoon Character है l वो किसी wall या किसी object पर Punch मार रहा है l पर वो मरने से पहले अपने आप को तैयार कर रहा है l या punch को मरने के लिए दोनों Hand close करके हवा में घुमा रहा हो l और वो अपने Leg को आगे पीछे करके अपनी Body का एक Angle show करा रहा हो l

  • Staging

Staging में हमें अपने Camera Angle And Timing और  हम अपने Auditions को क्या क्या Show करना चाहते है l Example – किसी गरीब का मकान है l जिसकी wall टूटी हुई है l मकान की wall से पेंट गिर रहा है l उसको उसी Environment के हिसाब से उसे हमें SHOW करना होता है l या हमारा कोई Cartoon है l जो Rich Family में रहता है l तो उसके लिए हमें tree फ्रिज AC TV table जो Rich Family में होनी चाइये वो सब हमें Stage पर Show करना होगा l

  • Pose To Pose And Straight Ahead

Pose To Pose का means होता है l किसी Object को Frame By Frame Animate करना और Angle के हिसाब से अपने object में और ज्यादा Details देना इसे हम Pose To Pose कहते है l

Straight Ahead में हमने जो object Animate किया है उसमे हमें Source और Destinations show होगी l  इसमें Start और Last Frame Show होगा वो इस लिए की इसका Animation ज्यादा Fast होगा l इसे हम Straight Ahead कहते है l

  • Follow Through And Overlapping Action

जब कोई चलती हुई object जैसे कि कोई person Stop हो जाता है, तो आगे की गति के Force के कारण part उसी Direction में आगे बढ़ना जारी रख सकते हैं। ये part अधिक overweight वाले व्यक्ति के hair, clothing, jowls, or jiggling flesh हो सकते हैं। यह वह जगह है जहां आप follow-up and overlap कार्रवाई देख सकते हैं। secondary elements (hair, clothing, fat) primary element पर चल रहे हैं, और इसकी process को Overlap कर रहे हैं। Follow-through primary element की movement का describe भी कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here