Introduction 8085 Microprocessor & its Architecture & Function

0
33

Introduction 8085 Microprocessor & its Architecture & Function

8085 Microprocessor

8085 Microprocessor को Intel company द्वारा 1977 में बनाया गया था। यह एक 8-bit processor है यह एक समय पर 8 bit data को Transfer कर सकता है। यह Intel के 8086 Microprocessor का updated version था। ये Interrupt जैसी problem solve करता है तथा इसमें Serial Input/Output जैसे विशेषताओं को जोड़ा गया था।

Function of Microprocessor

  • Machine के जुड़े हुए अन्य सभी Hardware को Control और उन्हें signal send करता है।
  • किसी Memory device जैसे की Hard disk drive, RAM आदि से या फिर किसी Input Devices जैसे की Keyboard, Mouse से input signal या instruction को Receive करता है ।
  • Microprocessor Input Devices से Receive instruction को समझकर उसका Execution करना करता है ।
  • यह Operating system द्वारा की जाने वाली महत्वपूर्ण process जैसे कि File management,<Memory management आदि में उसकी Help करता है जिससे Machine को निरंतर चलाये रखना संभव हो पता है।
  • यह किसी Machine के सभी Internal program और Application का Execution करता है तथा आवश्यक Output को Output device के माध्यम से users के समक्ष प्रदर्शित करवाता है।
  • आवश्यकतानुसार instruction को Memory device में जमा करना या फिर किसी Output Devices जैसे की Monitor, Printer, Speaker आदि के use से प्रदर्शित करना।

Architecture of 8085 Microprocessor  

  • इसमें 8 bit data bus होती है|
  • 16 bit address bus होती है जो कि 64 kb से ज्यादा को address कर सकती है|
  • एक 16 bit program counter (PC) होता है|
  • एक 16 bit stack pointer होता है|
  • इसमें 6 (छ), 8 bit registers होते है. जो कि जोड़े में arrange रहते है: BC, PE, HL.|
  • इसको 3.2 MHZ single clock phase में operate करने के लिए +5V power supply की आवश्यकता होती है|

Internal architecture of 8085 microprocessor | Electronics Engineering Study Center

1. ALU (Arithmetic and Logical Unit)

ALU का पूरा नाम Arithmetic logical unit है यह Numerical और logical operation को perform करता है| जैसे:- Addition, Subtraction, ‘AND’, ‘OR’ आदि|

यह Memory और Accumulator से data का use arithmetic operation को perform करने के लिए करता है और जो Result आता है उसे हमेशा Accumulator में store करता है| ALU के पास accumulator, flag register और temporary registers होते है|

Striver SDE Sheet Problems

2. Timing and Control Unit

यह Unit सभी operations के लिए timing और control signals generate करती है|यह unit, Microprocessor के operations को clock के साथ synchronize करता है तथा Microprocessor और peripheral devices के मध्य communication के लिए control signals को generate करता है|

नीचे timing और control signals दिए गये है. जो कि internal और external circuits को control करते है|

  • control signals: READY, RD’, WR’, ALE
  • status signals: S0, S1, IO/M’
  • DMA signals: HOLD, HLDA
  • RESET signals: RESET IN, RESET OUT

3.Registers

एक प्रकार का छोटा सा Memory circuits होता है, जिसमें की Data और Instruction को थोड़ी देर के लिए temporary रूप से जमा किया जाता है। 8085 में 8 bit data store करने के लिए छह Registers होते है।

What is Cloud Computing in hindi

4. System Bus

ये निम्नलिखित तीन प्रकार की होती है|

  1. Data bus:- यह Data को Binary के रूप में microprocessor और अन्य external units जैसे Memory के मध्य ले जाती है. इसका size 8 या 16 bits का होता है. यह bi-directional होती है इसमें data flow दोनों तरफ होता है|
  2. Address bus:- यह operand के address को Binary के रूप में ले जाती है. इसका size 16-bit का होता है. यह unidirectional होती है इसमें data flow केवल एक तरफ होता है|
  3. Control bus:- control bus जो है वह synchronization signals को ले जाती है और timing signals provide करती है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here