Introduction to Bluetooth Architecture and Application

0
27

Introduction to Bluetooth Architecture and Application

Bluetooth एक कम Distance में work करने वाली Wireless Technology है जो की दो या इससे अधिक Devices के बीच जैसे Mobile Phones, Computers इत्यादि के बीच Data या Voice को बिना किसी Wire की Help के Limit distance तक Transmit करता है| Bluetooth नाम की Origin 10वीं शताब्दी के Danish King, जिनका नाम Harald “Bluetooth” Gormsson था के नाम से हुई| Bluetooth को सन 1996 में Cables की जगह Wireless Replacement के तौर पर Develop किया गया| यह भी दुसरे Wireless Technology जैसे की Home और office में use होने वाले Cordless Phones और WiFi Routers की तरह2.4 GHz frequency पर ही work करता है|

यह अपने चारो तरफ 10 मीटर (33 foot) के Limit में एक Radius Wireless Network का निर्माण करता है जिसे Personal Area Network (PAN)या Piconet कहते हैं| जो की 2 से लेकर 8 Devices के बीच Contact establish कर सकता है|Example के लिए अगर आप अपने Room में mobile phone से computer पर Image send करना चाहते हैं तो Bluetooth के माध्यम से बिना किसी Cable के Send कर सकते हैं| इसके लिए किसी भी तरह की Cable, cord या adapters की जरूरत नहीं होती| जो भी Data transfer होता है वह बिलकुल Secure होता है|

Bluetooth Architecture

Bluetooth एक Network technology है जो Personal Area Network (PAN) बनाने के लिए छोटी Range में Wireless तरीके से Mobile device को जोड़ता है| वे Wired PAN के RS -232 Data cable के बजाय 2.400 से 2.485 Gigahertz के भीतर Short-wavelength, Ultra-high frequency (UHF) radio waves का use करते हैं|

Type of Bluetooth Network

Bluetooth Network दो प्रकार के होते हैं –

Piconets

Piconets छोटे Bluetooth Network हैं जो अधिकांश 8 Station पर बनते हैं जिनमें से एक Master node और बाकी Slave node अधिकतम हैं| Master node primary station है जो छोटे Network का Manage करता है| Slave Station Secondary Station हैं जो primary station के साथ Synchronized किए जाते हैं|

Communication एक Master node और एक Slave node के बीच एक-से-एक या एक से many ways से हो सकता है| हालाँकि Slaves के बीच कोई सीधा Communication नहीं होता है| प्रत्येक Station , चाहे Master या Slave , 48-bit fixed device address के साथ जुड़ा हुआ है| Seven active slaves के अलावा park किए गए node के 255 तक हो सकते हैं| ये Energy Conservation के लिए कम Electricity की State में हैं| एकमात्र काम जो वे कर सकते हैं वह Master node से Activation के लिए एक Beacon frame का जवाब है|

Scatternodes

Multiple Piconets के Combinations को Scatternet कहा जाता है| A device multiple piconets में participate कर सकता है| इसे Timeshare करना पड़ता है और Current piconet के master के साथ synchronize भी होना पड़ता है| ये उन Data rate को support करता है जो की अलग अलग Versions पर आधारित होते हैं जो की कुछ इस प्रकार है 720 kbps से 24 Mbps तक| ये 1 से 100 meters तक के दूरता को cover कर पाने की Capacity रखते हैं जो की depend करता है की वो उस Bluetooth device के किस Power class को support करता है|

Bluetooth Applications

  • Laptop, Notebook और Wireless PC में
  • Mobile phone और PDA (Personal Digital Assistant) में।
  • Printer में।
  • Wireless headset में।
  • Wireless PAN (Personal Area Network) और यहां तक ​​कि LAN (Local Area Network) में भी
  • Data files, Video और Imageऔर MP3 या MP4 को Transfer करने के लिए।
  • Wireless peripheral devices जैसे Mouse और Keyboard में।
  • Data logging tools में।
  • Mobile phone जैसेSender device से Sender node तक Data के Short-range transmission में।

Comparison between Bluetooth and WiFi

BASIS FOR COMPARISON BLUETOOTH WIFI

Bandwidth

Low High

Hardware requirement

Network के भीतर सभी device पर Wireless adopter और एक Wireless router भी। सभी Device पर Bluetooth adopter जो हम एक दूसरे से connect करते हैं।

Ease of Use

यह अधिक Complex है और Hardware और Software के configuration की भी आवश्यकता है। Devices का use करना और Link करना काफी आसान है।

Range

10 meters 100 meters

Security

Better security features हैं। अभी भी कुछ जोखिम हैं।

 

Less secure

Power consumption

Low High

Frequency range

2.4 GHz और 5 GHz 2.400 GHz और 2.483 GHz

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here