Network Connectivity Devices and its Types

0
27

Networking Device

Networking device वे Equipment होते है जिनके द्वारा दो या दो से अधिक Computer या Electronic device को आपस में Connect किया जाता है | जिससे कि वे आपस में Data share कर सकें तथा Communication कर सकें |

Type of Networking Device

Network Interface Card (NIC)

NIC – (Network Interface Card) Network Interface Card Printed Circuits Board से बना Hardware device है जिसे Computer के Expansion slot में लगाया जाता है । इसमें Network cable जोड़ने के लिए Jack बना होता है । यह Computer तथा Network के बीच Contact establish करता है । अलग – अलग Network Topology तथा Protocol के लिए Network Interface Card भी अलग – अलग होता है । प्रत्येक Network Interface Card का एक विशेष MAC Address (MAC Address – Media Access Control Address) होता है जो Card के निर्माता कंपनी द्वारा दिया जाता है ।Network से जुड़ा प्रत्येक Npde अपने MAC Address से ही पहचाना जाता हैं |

What is Hub

Hub different hardware device को आपस में Add के लिए Hub का use किया जाता है । Hub द्वारा दो या अधिक Network को आपस में Add किया जाता है ताकि वे Data का Exchange कर सकें । Hub में कई Port होते हैं । किसी एक Port पर आने वाला Data Hub के प्रत्येक Port पर available होता है । इस प्रकार , Hub data को Path provide करता है ।

वह Hub जो Data transfer करने के लिए केवल path provide करता है , Passive hub कहलाता है । यदि Hub data transfer  के दौरान path provide करने के अतिरिक्त data को Monitoring भी करता है तो वह Intelligent hub कहलाता है । जो Hub data packet पर सही address को identify कर प्रत्येक packet को उचित path पर Transfer करता है , Switching hub कहलाता है ।

What is Router

Router एक Inter Networking Device हैं जो, जिसे दो Different Networks को अपास में जोड़ने के लिए  इस्तेमाल किया जाता है | यह OSI MODEL की Network Layer पर कार्य करता हैं |  Router Data को एक Network से दुसरे Network  में Send करता है | फिर आगे का कम Switch करता है  Router अपनी एक ROUTE Table Maintain करता है |

Type of Router

  • Routed Protocol

यह Protocol Data को  Carry करते है और Logical Addressing define करते है इस तरह के Protocol में Device को Menially एक IP दिया जाता है| IP,IPX, AppleTalk.. यह Protocol Routed Protocol के अन्दर कम करते है.

  • Routing Protocol

इस Types के Protocol Routers के बीच Path Determination करते है इन्ही की help से Router अपनी Routing Table Update करते है | RIP, IGRP, EIGRP, OSPF.. etc यह Protocols Routing Protocol के अन्दर work करते है |

What is Switch

Switch एक Networking device है जो कि Networking device तथा Segment को आपस में Add करता है| इसे Multiport bridge भी कहते है. क्योंकि इसकी Working method bridge के समान ही है| यह Star topology work में आती है | यह OSI model के Layer 2 (data link layer) में work करता है. लेकिन आजकल ऐसे Switch भी आ गये है जो कि OSI model के Layer 3 (Network Layer) में work करते है|

Switch में कई Port लगे होते है जब Switch से होकर Data आता है तो Switch data में Destination computer का Address read कर लेता है और उसे Destination computer को send कर देता है. यह Frame के MAC address को check करता है| Switches Traffic को consume कर देती है. और Collision domain को Segment में divide कर देती है| Switches में Built-in hardware chips होती है जो कि Switching का work करती है. अतः इसकी Speed बहुत Fast होती है और ये कई ports के साथ आते हैं.

Types of Switch

Switch दो type के होते है |

  • Unmanaged Switches

इस प्रकार के Switch का use अधिकतर Home Network या छोटे Business मे किया जाता है। ये Switch Plug–in होते है और ये तुरंत work करने लगते है क्योंकि इन्हे किसी प्रकार के Configuration की आवश्यकता नहीं होती है। इनके लिए छोटे Cable Connection की आवश्यकता होती है। इसके द्वारा एक Network में devices एक दूसरे से Connect हो सकती है. Switches की Category मे इन Switches का Price सबसे कम होता है।

  • Managed Switches

इस प्रकार के Switches मे High level की Security, Precision Control और Network के Full Management के Features होते है। इस प्रकार के Switches को Large Network वाले business मे Use किया जाता है।

Repeater

Repeater Network में Data signals को long distance तय करनी पड़ सकती है जिससे Data signals में Loss possible है । long distance तक Data signals की Reliability बनाए रखने तथा Transmission में हुए Loss से निपटने के लिए उन्हें  Amplify करना पड़ता है । Repeater एक Hardware है जो Communication medium से Data signals लेकर उन्हें Amplify करता है तथा Again communication medium पर भेजता है । इस प्रकार , Repeater Network के दो भागों को आपस में जोड़ता है ।

What is Modem

Modem एक Network hardware device है जो किसी Computer को एक telephone line या cable या Satellite Connection पर data send और receive करने की अनुमति देता है | जिससे digital data को phone-line पर Use किये गये Analog Signal में Convert किया जाता है | Modem Input और Output दोनों device है | Modem में केवल तीन Port होते है | एक जो internet से connect होता है | दूसरा router से तथा तीसरा Power Source से Connect होता है |

Type of Modem
1. External modem

यह एक box होता है जो Modem के Circuit को Computer के बाहर रखता है | यह Computer से एक USB cable या फिर Fire Wire की सहायता से जुड़ता है |

2. Internal modem

यह एक Circuit board होता है | जो computer के expansion slot में Plug होता है | आजकल modem PC card के रूप में आते है | जो laptop में होता है | mobile phone से connect करके data transmit कर सकते है |

What is Gateway

Gateway एक Network node है जो दो Network को Different Protocol का use करके Connect करता है। जबकि एक Bridge का use दो समान प्रकार के Network को Join करने के लिए किया जाता है, दो Different type के Network को Join करने के लिए एक Gateway का use किया जाता है।

एक Network Gateway दो Network को Connect करता है ताकि एक Network के device दूसरे Network के पर devices के साथ Communicate कर सकें। Gateway के बिना, आप Internet का use करने, Communicate करने और एक जगह से दूसरी जगह पर Data send में able नहीं हो सकते। Gateway पूरी तरह से Software, Hardware, या दोनों के Combination में Allow करता है। क्योंकि Definition के द्वारा एक Network Gateway दुसरे Network के Corner पर Show होता है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here