What are the three views of Database

0
42

DBMS में Architecture के 3 level हैं :-

  1. External or View Level
  2. Logical or Conceptual Level
  3. Physical or Internal Level

1 . External or  View Level:-

  • इसे View Level के नाम से भी जाना जाता है|
  • यह एक End user-level होता है|
  • इस Level में जो user , Database Management System को यूज करते हैं उन्हें Database कैसे दिखेगा यह बताया जाता है|
  • जो User को दिखता है हम वह Design करते हैं|
  • हम अलग-अलग User को अलग-अलग View दिखा सकते हैं|

Example :- User A and User B

हम User A and User B को different – different view provide करा सकते हैं , अर्थात  जो दोनों का level या view होगा वो different होगा|

2. Logical or Conceptual Level :-

  • इसे Logical Level के नाम से भी जाना जाता है|
  • Logical Level में यह देखते हैं कि हमारे database में कौनसे data स्टोर होगा|
  • इसमें  जो Data Store होता है हम उनके बीच का relationship भी find कर सकते हैं|
  • Logical Level में यह भी बता सकते हैं की :-
  1. Data के constraints क्या क्या हैं|
  2. Data की semantic information भी निकाल सकते हैं|
  3. Security से related information भी निकल सकते हैं|

Example:-

हम employee और  department का data store कर रहे हैं , तो हम data store के साथ साथ इनके बिच का relationship भी find कर सकते हैं|

3. Physical or Internal Level :-

  • इसे internal level के  नाम से भी जाना जाता है|
  • Physical Level लेवल में यह पता चलता है कि data physically कैसे store हो रहा है|
  • हमारे computer system में जो disc होता है हम उन्हीं में data स्टोर करते हैं|
  • इस level में space allocation decide करते हैं,  मतलब data स्टोर करने के लिए कितना space यूज़ करना है|
  • Physical storage  के लिए हमें कौन सा file system यूज करना है इसमें decide किया जाता है|
  • Data की encryption या compression की technique भी यही decide किया जाता हैं|
  • Records की placement भी यही decide किया जाता हैं|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here