What is Multimedia and it’s types

0
23

What is Multimedia and it’s types

What is Multimedia

Multimedia ऐसा Content है, जो Text, Audio, Images, Animation, Video और Interactive Content जैसे Different Content Form के Combination का use करता है। Multimedia और Media Different हैं, क्योंकि Media केवल Printed Text या Head Products Traditional Form को ही Display करता हैं।Multimedia Word Multi और Media Word को मिलाकर बनाया गया है। Multi Word “बहुत” को show करता है। Multimedia एक प्रकार का माध्यम है जो Information को एक स्थान से दूसरे स्थान पर आसानी से Transfer करने को Allow देता है।

Multimedia link और Tool के साथ Text, Images, Audio और Video का Presentation है जो user को Computer का use करके Navigation करने, Attach करने, Create और Communicate करने को Allow करता है। Multimedia Text, Drawing, स्टिल और Movies (Video) Graphics, Audio, Animation और किसी भी अन्य Media के Computer Integration को Refers करता है जिसमें किसी भी प्रकार की Information को Digital रूप से Show, Store, Communication और Process किया जा सकता है। Multimedia को Records और Play किया जा सकता हैं, Information Content Processing Devices  से Interact या Access किया जा सकता हैं| जैसे कि Computing और Electronic Devices, लेकिन इसके साथ ही यह Live Performance का Part होता हैं।

What is Multimedia and it's types

 

Characteristics of Multimedia

  • Multimedia systems necessary से ही Computer controlled होने चाहिए|
  • Multimedia systems सभी integrated होने चाहिए|
  • वो Information जो ये Handle करते हैं वो सभी Digitally represent होने चाहिए|

Type of Multimedia:-

  • Television

Television भी एक Multimedia device होता है। इसमें Multimedia का use होता है। इसमें Multimedia के द्वारा ही सभी Movies और Serial को बहुत ही अच्छी तरह से display किया जाता है। इसमें Graphics और Animation का use किया जाता हैं।
  • Storage Devices

सभी प्रकार के Storage devices भी Multimedia device में include हैं। Storage devices में हम Video, Audio, Images, Text, Graphics, Animation, इत्यादि प्रकार की Files को Store कर सकते हैं, इस प्रकार Storage devices भी Multimedia के प्रकार में include होता है। Storage devices के Example – Hard Disk, Pen Drive, DVD, CD ROM, Etc.
  • Computer Devices

Computer System एक ऐसा Device हैं जहां से हम Animation, Video, Image, Audio, आदि को बना भी सकते हैं, और उसमे edit भी कर सकते हैं। सभी Graphic data, Animation, इत्यादि Computer के जरिए ही बनाए जाते हैं। Computer एक Multimedia device हैं| Computer System के Example – Desktop, Laptop, Workstation, Smartphones, Tablets, Etc.

  • Kiosk System

Kiosk, एक प्रकार का Electronic device होता है, जिसके Screen में Touch करके किसी Information को Receive किया जाता हैं। इसमें Computer Screen पर स्थित Graphical User Interface (GUI) वाले Icon को Finger से Touch करके Storage information Receive किया जा सकता है। इसमें Information को Text, Images, Animation, Sound या Video या इनके सम्मिलित रूप में Show किया जा सकता है।

Evaluation of Multimedia

Multimedia के Interest और use में Remarkable growth हुई है| Multimedia develop करने में Skill Growth के अलावा Program, Internet पर Content का एक ocean है| एक Quality program design और Develop करने के लिए हमें एक अच्छे Multimedia की Quality को समझने के लिए कुछ समय देना चाहिए Program और एक Website। जैसा कि हम Multimedia program के Evaluation पर Discussion करते हैं

Evaluation: Test of the Pudding

Evaluation यह Test कर रहा है कि क्या कोई Multimedia program object set को Fulfills कर सकता है और Program अपने Target के लिए use होने वाले आवश्यक Requirement को Suggest करता है | Evaluation एक सामान Process नहीं है | सभी Programmers को Evaluation Invariably रूप से उन Objects को use करना है जो Multimedia Software पूरा करना चाहता है |

Types of Evaluation

  • Formative Evaluation

इसका Development एक Continuous process के रूप में किया जाता है| Multimedia और Development process वास्तव में Start होने से पहले भी Decisions software development की Process की शुरुआत में लिया गया| Various aspect को effective करता है Software का। who, why, where और how बनते हैं जैसे Questions के Answers software के Development के लिए Guidelines है। समय के आधार पर Resources, Feedback के Quantitative और Qualitative दोनों method का use किया जाता है|  Formative evaluation। कोई भी Program सभी learners की सभी आवश्यकताओं को पूरा नहीं कर सकता है। यदि कोई Single event सभी Information provide कर सकता है और सभी Questions का Answers दे सकता है दूसरे शब्दों में, हम Program के Objectives को स्पष्ट करना होता है।

  1. इस Software के Target users कौन हैं और Target का Level क्या है |
  2. Learner से expected computer familiarity का Level क्या है
  • Assumptive Evaluation

Program के Development के पूरा होने के बाद Software को use के लिए जारी किया जाता है| Actual users, तब Suggestion देते हैं और ये Suggestion का निर्माण करते हैं| Assumptive evaluation के आधार पर Assumptive evaluation project का End है| कुछ Program में विभिन्न Development करने के लिए कई Team include होती हैं बड़े Software के Component, जो Finally product में Integrate हो जाते हैं। जबकि Microsoft Office के साथ Work करते हुए आपने इसके द्वारा provide की जाने वाली अनेक Service का use किया होगा।

Example के लिए यदि आप Accessories पर click करते हैं तो यह Calculator, Games आदि provide करता है। इन्हें अलग-अलग Group द्वारा अलग-अलग develop किया गया होगा और फिर End में एक Finally product बनाने के लिए include किया गया होगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here